आगरा- फैसले के समय इंटरनेट सेवा बन्द कर सकते हैं : डीजीपी ओपी सिंह

0
38

रिपोर्ट -नसीम अहमद /आगरा – अयोध्‍या मामले को लेकर बैठक हुई जिसमें डीजीपी ओपी सिंह पुलिस लाइन पहुंचे और कहा कि अयोध्या मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए पर फैसले के समय इंटरनेट सेवा बन्द कर सकते हैं। उत्तर प्रदेश के 31 संवेदनशील जिलों में आगरा भी शामिल है। जिसके लिए केंद्र सरकार से अतिरिक्त फोर्स और पैरा मिलिट्री फोर्स यहां मांगा गया है। नेपाल से लगे सभी 9 जनपदों पर सक्रियता बढ़ा दी गयी है।

अतिरिक्‍त सुरक्षा व्‍यवस्‍था बरतने के शासन के आदेश हैं। शहर की सुरक्षा व्‍यवस्‍था को लेकर ही पुलिस लाइन में जोन के पुलिस अधिकारियों के साथ डीजीपी ओपी सिंह ने बैठक की। बैठक के बाद पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए डीजीपी ने बताया कि प्रदेश के सभी जिलों में अस्थाई जेल बनेंगे। इंटरनेट सेवा बन्द करने पर भी विचार किया जा रहा है। केंद्र से राज्‍य सरकार ने सहयोग मांगा है। हालाकि डीजीपी ने दिल्‍ली में हुई मुख्य न्यायाधीश से मुलाकात के बारे में कुछ भी कहने से इंकार किया। उन्‍होंने दोनो पक्षो को संयम बरतने की सलाह दी। कहा कि आपराधिक व असमाजिक तत्वों पर सूबे भर में पुलिस की पैनी निगाह है। अयोध्या में भी अधिक सुरक्षा बढ़ा दी जाएगी। चाक चौबंद व्यवस्था के चलते कोई परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा। असमाजिक तत्व पर निगाह रखी जा रही है l

कोई भी दंगा कामयाब नहीं होने दिया जाएगा, असामाजिक तत्वों  को चिन्हित किया गया है उन्होंने बताया ,सीनियर ऑफिसर्स हरेक मूवमेंट पर नज़र रखे हुए हैं। पैरा मिलिट्री फ़ोर्स की मांग केंद्र से की गई है। 673 लोगों के सोशल मीडिया एकाउंट पर नज़र रखी जा रही है 40 कम्पनी पैरा मिलिट्री फ़ोर्स हमें मिला है बताया गया है कि पुलिस ने आगरा में कानून व्यवस्था की दृष्टि से संवेदनशील और अति संवेदनशील इलाकों को चिन्हित किया गया  है। इनमें पुलिस पैदल गश्त, मुहल्ला सभा करके लोगों से शांति बनाए रखने को अपील कर रही है। सभी लोगों ने भी इसके लिए पुलिस प्रशासन को आश्वस्त किया है। एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि कानून व्यवस्था की दृष्टि से अतिसंवेदनशील 37 मुहल्लों के 108 स्थलों पर पुलिस की ड्यूटी लगाई जा रही है। किसी भी तरह की अफवाह फैलाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।