नैनीताल -हवाई सेवा लापरवाही मामले में हाईकोर्ट सख्त सचिव उड्ययन नागरिक मंत्रालय, सहित7 लोंगो नोटिस

0
16

रिपोर्ट -कांता पाल/नैनीताल -हाईकोर्ट ने प्रदेश में हैरिटेज ऐविऐशन के नाम से संचालित हवाई सेवा मामले में यात्रियों की सुरक्षा को लेकर दायर जनहित याचिका पर सख्त रूख अपनाते हुए सचिव उड्ययन नागरिक मंत्रालय, डी.जी. नागरिक उड्ययन भारत सरकार, प्रबन्धक नैनी सैनी एयरपोर्ट, सुरक्षा ब्यूरो नागरिक उडययन भारत सरकार, सहित 7 लोगों  को नोटिस जारी कर 3 सप्ताह में जवाब दाखिल करने को कहा है। मामले की सुनवाई के लिए कोर्ट ने 22 नवम्बर की तिथि नीयत की है।
आपको बता दें  हल्द्वानी निवासी गणेश उपाध्याय ने जनहित याचिका दायर कर की है याचिकाकर्ता का कहना है प्रदेश में हैरिटेज ऐविऐशन के नाम से आम आदमी के लिए रीजनल कनैक्टिविटी सिस्टम के तहत चलायी जा रही विमान सेवा में लगातार लापरवाही बरती जा रही है। हैरिटेज एविएशन के नाम से दी जा रही विमान सेवा में उड़ान भरने वाला विमान 1990 का बना हुआ है। 25 वर्ष  पुराने विमान को जनता की जान की परवाह ना करते हुए चलाया जा रहा है। जबकि पूर्व में पिथौरागढ. से देहरादून की उड़ान के दौरान इस विमान का दरवाजा खुल गया और गाजियाबाद से पिथौरागढ़ से उड़ान के दौरान विमान का पहिया जाम हो गया था। याचिकाकर्ता का कहना है यात्रियों की सुरक्षा को देखते हुए हैरिटेज एविएशन की गारंटी सीज कर कम्पनी का परमिट निरस्त किया जाए। मामले को गंभीरत से लेते हुए कोर्ट ने 7 लोगो के खिलाफ नोटिस जारी कर 3 सप्ताह में जवाब दाखिल करने को कहा है।