करनाल-सरदार पटेल ने किया एक मजबूत और अखंड शक्तिशाली राष्ट्र का निर्माण : सांसद संजय भाटिया

0
28

करनाल- सांसद संजय भाटिया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कश्मीर से धारा 370 हटाकर सरदार बल्लभभाई पटेल के सपने को साकार किया और आजादी के करीब 70 वर्षों के बाद शेष बची रियासत कश्मीर को भारत का अंग बनाया। अब कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक एक विधान-एक प्रधान-एक निशान लागू हो गया है। सांसद ने आगे कहा कि वन्दे मातरम कहने पर किसी को आपत्ति नहीं होनी चाहिए। ऐसा कहने से ना तो कोई व्यक्ति किसी राजनैतिक दल का सदस्य नहीं बनता और ना ही उनका धर्म बदलता है, बल्कि भारत माता की वंदना की जाती है। भारत माता की आजादी की खातिर अनेक देश भक्तों एवं स्वतंत्रता सेनानियों ने अपने जीवन का बलिदान दिया है, उनके बलिदान को भूलाया नहीं जा सकता।
सांसद संजय भाटिया वीरवार को जिला प्रशासन द्वारा सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती के अवसर पर कर्ण स्टेडियम में आयोजित रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम के शुभारंभ पर बोल रहे थे। उन्होंने रन फॉर यूनिटी मैराथन को झंडी दिखाकर रवाना किया । रन फॉर यूनिटी में नागरिकों के साथ सांसद संजय भाटिया ने भी दौड़ लगाई। इस मौके पर मेयर रेनू बाला गुप्ता, उपायुक्त विनय प्रताप सिंह, एसपी एस.एस. भौरिया, नगरनिगम आयुक्त निशांत यादव, भाजपा जिलाध्यक्ष जगमोहन आनंद, भाजपा नेता शमशेर नैन, सतीश राणा, ईलम सिंह उनके साथ थे। मैराथन कर्ण स्टेडियम से शुरू होकर शहर के मुख्य मार्गों से होते हुए जीटी रोड बलड़ी बाईपास से वापिस होकर इसी स्थान पर पहुंची और जिलावासियों को राष्टï्रीय एकता का संदेश दिया। मैराथन में पुलिस कर्मी, खिलाडी, एन.सी.सी, एन.एस.एस, नेहरू युवा केन्द्र के स्वयं सेवक, आर.एस.ओ, राहगीरी कार्यक्रम से जुडे व विभिन्न सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधि तथा शिक्षिण संस्थाओं के छात्र एवं छात्राएं शामिल थे। राष्टï्रीय एकता दिवस कार्यक्रम में दयाल सिंह पब्लिक स्कूल, डी.ए.वी पुलिस पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों ने देश भक्ति से ओत-प्रोत लोक गीत प्रस्तुत किए।
उन्होंने कहा कि सरदार वल्लभभाई पटेल का भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में महत्वपूर्ण योगदान था, वह ऐसे जन नेता थे जिन्होंने आजादी के बाद देश को एकता के सूत्र में बांधने के लिए 565 रियासतों का एकीकरण किया। उन्होंने अंग्रेजी सरकार द्वारा किसानों पर लगाए गए लगान का विरोध किया और काले कानून को समाप्त करवाया। उन्होंने कहा कि सरदार वल्लभभाई पटेल कांग्रेस के एक बड़े लीडर थे और उन्हें देश के प्रथम उप-प्रधानमंत्री व गृह मंत्री बनने का गौरव प्राप्त हुआ था। लौह पुरूष सरदार बल्लभभाई पटेल ने भारत को एक मजबूत, अखंड शक्तिशाली राष्ट्र बनाने तथा एकता को बढ़ावा देने के लिए जो अहम भूमिका निभाई, इसलिए उनके जन्मदिवस को राष्टï्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाता है। हमें ऐसे महापुरूष के व्यक्तित्व से प्रेरणा लेनी चाहिए।
उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने कहा कि लौह पुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती के अवसर पर आयोजित रन फॉर यूनिटी कार्यक्रम में आए अतिथियों का स्वागत किया और कहा कि आज ऐसे महापुरूष की जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जा रहा है, जिन्होंने पूरा जीवन देश की मजबूती के लिए कार्य किया। उन्होंने कहा कि सरदार वल्लवभाई पटेल नही होते तो छोटे-छोटे रियासतों में बिखरे हुए भारत देश को एकता के सूत्र में पिरोया नही जा सकता था। यों कहिए कि समूचे भारत को एक माला में पिरोने का काम किया हैं।