कुल्लू- किसी भी देवता का देउलू रास्ता भटक गया तो उसे ढूढेगा मार्ग दर्शक ऐप

0
16

रिपोर्ट -निखिल / कुल्लू- कुल्लू  दशहरा में जिला के विभिन्न ग्रामीण क्षेत्रों के देवी .देवता अपने हारियानों के साथ सैंकड़ों किलोमीटर पैदल यात्रा कर ढालपुर पहुंचते है। यदि पैदल यात्रा के दौरान किसी भी देवी.देवता का देवलु रास्ता भटक जाता है तो उसके साथियों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। ऐसे में उसको ढुढने व रहा दिखाने के लिए फरमेंटा बायोटेक कंपनी ने 15लाख रूपए खर्च कर एक ऐसा ऐप तैयार किया है कि जो ग्रामीण क्षेत्र से कुल्लू ढालपुर मैदान तक पैदल यात्री भटक गया तो यह ऐप उसे राह दिखाएगा और उनके साथ आए अन्य साथियों को उसकी तलाश में इधर.उधर भटकना नहीं पड़ेगा। जिला कुल्लू के सैंज, बंजार, आनी और निरमंड,लगवैली,उपरवैली,मणिकर्ण क्षेत्र के देवी देवताओं को जिला मुख्यालय स्थित ढालपुर मैदान में पहुंचने में तीन से एक सप्ताह तक का समय लग जाता है और रास्ते में कई पड़ाव पर विश्राम करना पड़ता है। ऐसे कई बार देवलु दशहरा उत्सव में आते हुए रास्ता भी भटक जाते हैं। लेकिन इस एप के जरिए रास्ता भटकने वाले देवलुओं को ट्रेस किया जा सकेगा। फरमेंटा वायोटेक लिमिटेड के एचआर हैड सविता जम्बाल ने बताया कि फरमेंटा वायोटेक लिमिटेड कंपनी ने मार्गदर्शक नाम की ऐप बनाई है जिसमें देवी देवताओं के साथ आने वाले लोग अपना गु्रप तैयार करेंगे और अपने क्षेत्र से लेकर कुल्लू तक की यात्रा का ट्रैक फीड करेंगे। देवी देवताओं के साथ आने वाले हर लोगों के मोबाईल फोन इस ग्रुप में फीड किए जाएंगे और जो भी आदमी रास्ते में कहीं इधर-उधर भटक गया तो उसका मैसेज अन्य तमाम देवलुओं के मोबाईल फोन में आ जाएगा। उनका कहना है कि फरमेंटा वायोटेक लिमिटेड कंपनी ने एक मार्गदर्शक नाम का ऐप तैयार की है जो देवी देवताओं के साथ आने वाले लोगों के लिए फायदेमंद साबित होगी।उन्होंने बताया कि इस ऐप में आपाताकालीन सहायता के लिए पुलिस का सौ नंबर और प्रशासन सहायता के लिए 1077 भी फीड है उन्हें भी सहायता के लिए कॉल भी कर सकते है।
नोट-फोटो मार्ग दर्शक के नाम से भेजी है।