करनाल -पांच साल की उपलब्धियों का रिपोर्ट कार्ड लेकर मैदान में हैं हरविंदर कल्याण

0
20

करनाल- घरौंडा विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार थमने के बाद चिंतन और मंथन का दौर शुरू हो चुका हैं। भाजपा की तरफ से पूर्व विधायक तथा हैफेड के चेयरमैन हरविंदर कल्याण अपना पांच साल तक रिपोर्ट कार्ड लेकर मैदान में उतरे हैं। दूसरी तरफ कांग्रेस और जेजेपी के पास खाली झोली है। इनेलो की तरफ से पूर्व विधायक रेखा राणा का पुत्र है। करनाल जिले में लंबे समय तक विपक्षी विधायक के रहते उपेक्षा का संताप सहा है। इस हलके को पहली बार भाजपा का विजनरी विधायक के रूप में हरविंदर कल्याण मिले। जिनके पास पिता देवी सिंह कल्याण की विरासत थी। उन्होंने चुनावी सियासत से पहले अपने हलके में कई बार पद यात्राएं की। लोगों के करीब पहुंचने का काम किया। इंजीनियर से राजनीति में आए हरविंदर कल्याण के पास विकास का एक विजन रहा। उपलव्धियों के क्षेत्र में उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल के निर्वाचन क्षेत्र को भी पीछे छोड़ दिया। करनाल जिले का इंटरनेशनल  स्तर का पंडित दीन दयाल मेडिकल यूनिवर्सिटी,एनसीसी का प्रशिक्षण केंद्र रक्षा अनुसंधानसंसथान का केंद्र घरौंडा को सब डिवीजन बनाने,बेराजगारों के लिए स्किल सेंटर खोलने घरौंडा के लोगों को बाढ़ से मुक्ति दिलवाने,बस स्टैंड बनाने,मल्टी परपज सिविल अस्पताल खुलवाने के साथ साथ करोड़ों रुपए की विकास योजनाओं को धरातल पर लाने के अलावा रेलवे सुविधाएं दिलवाने जैसी उपलब्धियांं उनके पिटारे में हैं। जबकि अन्य विपक्षी दलों के पास खाली हाथ हैं। विपक्षी विधायक को चुनने का संताप इस हलके ने लंबे समय तक सहा है। अब लोग सत्ता पक्ष के विधायक को ही अपने साथ रखना चाहते हैं । अपने हलके लोगों के सुख दुख में रहने की कला हरविंदर कल्याण में हैं। उनका विकास के प्रति एक विजन है। घरौंडा के रहने वाले रमेश , बृजलाल का कहना है कि कल्याण अपने साधारण और मिलनसार स्वभाव से जाने जाते हैं l